प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

विदेह नूतन अंक
वि दे ह विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly ejournal विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू। Always refresh the pages for viewing new issue of VIDEHA.

आचार्य रामानंद मंडल

रुपवती/ अंगिका बज्जिका/ भासा के बांटियो


 

रुपवती

 

रुपवती तोहर रुप

बेमिसाल छौ।

 

रुपवती तोहर मुखरा

पूनम चान छौ।

 

रुपवती तोहर केश

कारी  नागिन छौ।

 

रुपवती तोहर भौं

तीर कमान छौ।

 

रुपवती तोहर आंख

खंजनक आंख छौ।

 

रुपवती तोहर नाक

सुग्गाक चोंच छौ।

 

रुपवती तोहर दांत

अनारक दाना छौ।

 

रुपवती तोहर यौवन

इलाहाबादी लताम छौ।

 

रुपवती तोहर मेरू

सिंह समान छौ।

 

रुपवती तोहर पांव

गुलाबक पंखुरी छौ।

 

रुपवती तोहर चाल

हिरणीक चाल छौ।

 

रुपवतीक रुप पर

रामा निहाल छौ।

 

 

 

२.

अंगिका बज्जिका

 

अंगिका बज्जिका मैथिली से

हो गेल गायब।

 

मिठगर बोली  मैथिली के

हो गेल गायब।

 

अंगिका आदि कवि रहे

सरहपा भे गेल गायब।

 

बज्जिका  आदि कवि रहे

गयाधर भे गेल गायब।

 

मैथिली  बोली जनगणना में

हो गेल गायब।

 

मानक देलक मैथिली के

बोली के गायब।

 

भाषा  राजनीतिक तीर से

मैथिली हो गेल घायल।

 

कालिदास बनल मैथिली के

विद्वान काटइत  बइठल डालक।

 

 संबरधन लेल मैथिली के

रामा बोली के बलबरधन।

 

 

३.

भासा के बांटियो

 

भासा के,

सरहद मे बांटियो।

 

मैथिली के,

बज्जिका अंगिका मे बांटियो।

 

मैथिली के,

संसकृत -असंसकृत मे बांटियो।

 

मैथिली के,

रार मानक मे बांटियो।

 

मैथिल के,

ऊंच -नीच मे बांटियो।

 

मैथिल के,

बाभन सोलकन मे बांटियो।

 

मैथिल के,

छूत अछूत मे बांटियो।

 

मिथिला के,

बज्जिकांचल अंगिकांचल मे बांटियो।

 

भासा के,

रामा सरहद मे बांटियो।



रचनाकार-आचार्य रामानंद मंडल , सीतामढ़ी।
मो-9973641075.

अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।