logo logo  

वि दे ह 

प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

मानुषीमिह संस्कृताम्

ISSN 2229-547X VIDEHA

विदेह नूतन अंक बालानां कृते

विदेह

मैथिली साहित्य आन्दोलन

Home ]

India Flag Nepal Flag

(c)2004-2018. सर्वाधिकार लेखकाधीन आ जतय लेखकक नाम नहि अछि ततय संपादकाधीन।

 

वि  दे  ह विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly e Magazine  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू।

 

विदेह मैथिली मानक भाषा आ मैथिली भाषा सम्पादन पाठ्यक्रम

भाषापाक

१.बृषेश चन्द्र लाल-जाऊ ठंढ़ाऊ, हिड़ला लगाऊ ! २. आशीष अनचिन्हार- बाल गजल

 

बृषेश चन्द्र लाल

जाऊ ठंढ़ाऊ, हिड़ला लगाऊ !

१.
जाऊ ठंढ़ाऊ !
पोखरिके भीड़पर

हिड़ला लगाऊ !!
बौआ आओत 
दिन ताकिकए
संगे लाओत केक,
घुटु-घुटु 
मुहँ खुआओत
करब फेसबुक चेक ।
जाऊ ठंढ़ाऊ !
पोखरिके भीड़पर
हिड़ला लगाऊ !!

२.
चन्दा मामा दूरसँ
पूआ पकाबथि गुंड़सँ
ओहिना पकाऊ,
गामक दलानसँ
थपड़ी बजाऊ ।
असगर हँसू
लाइव चलाऊ,
बिचकू-कूदू
गाल फुलाऊ ।
जाऊ ठंढ़ाऊ !
पोखरिके भीड़पर
हिड़ला लगाऊ !!
३.
आ आ रे
खजनचिड़ैया
नेटबाके अवतारमे,
कुहुर काटे बाबु-मैया
घर-बारीके झारमे ।
आ आ 
नेटचिड़ैया
धरैत अन्हार भगा,
देखा-देखाकए 
सुस्त लालसा
झुर्री आँखि सुता ।
जाऊ ठंढ़ाऊ !
पोखरिके भीड़पर
हिड़ला लगाऊ !!

 

आशीष अनचिन्हार

बाल गजल

केखनो हों केखनो हाँ केखनो हर्र केखनो हुर्र
केखनो कों केखनो काँ केखनो कर्र केखनो कुर्र

केखनो भों केखनो भाँ केखनो भर्र केखनो भुर्र
केखनो पों केखनो पाँ केखनो पर्र केखनो पुर्र

केखनो छों केखनो छाँ केखनो छर्र केखनो छुर्र
केखनो चों केखनो चाँ केखनो चर्र केखनो चुर्र

केखनो सों केखनो साँ केखनो सर्र केखनो सुर्र
केखनो गों केखनो गाँ केखनो गर्र केखनो गुर्र

केखनो ओं केखनो आँ केखनो अर्र केखनो उर्र
केखनो फों केखनो फाँ केखनो फर्र केखनो फुर्र

सभ पाँतिमे 222-222-222-222-222 मात्राक्रम अछि। दू टा अलग-अलग लघुकेँ दीर्घ मानबाक छूट लेल गेल अछि। सुझाव सादर आमंत्रित अछि।

 

ऐ रचनापर अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।