logo   

वि दे ह 

प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

मानुषीमिह संस्कृताम्

ISSN 2229-547X VIDEHA

विदेह नूतन अंक पद्य

 विदेह

मैथिली साहित्य आन्दोलन

Home ]

 

India Flag Nepal Flag

(c)२००४-२०२०.सर्वाधिकार लेखकाधीन आ जतए लेखकक नाम नहि अछि ततए संपादकाधीन।

 

वि  दे  ह विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly e Magazine  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका  नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू।

 

विष्णु कान्त मिश्र

कुरसी

 

चोरा-नुक्की खेल खेलाइते ,

निर्लज्ज बनि आब टाल ठोकै छै।

क्रिमिनल गैंगक सरदारबनै लेल,

आन पार्टीक मेम्बर फोड़ै छै ।।

जन प्रतिनिधि बनब सर्वोत्तम बिजिनेस थिक,

अहिसॅ जुनि केओ मुह मोड़ू ।

जखनहि कतहु पाइ -पोस्ट भेटय ,

पहिलुका पार्टीक जड़िके कोड़ू ।।

संविधानक मूल भावना संग,

सतत खेल खेलाइत रहू ।

प्रजातंत्रके कनगुरिया आॅगुरपर ,

टिकलीजकाॅ नचैल करू।।

जतिआरे -धार्मिक उन्माद लोकमे,

सतत सूइ भोंकि जगैल करी ।

भेंड़ा -महिसिक कानि समाजमे,

जालजकाॅ पसारि चली ।।

कुरसीक खातिर मन्दिर-मस्जिद,

गुरुद्वारा-चर्चक दोहाइ दिअ ।

दिग भ्रमित करू अहिना सबके,

मुट्ठीमे सभहक टीक लिअ ।।

गाॅधीक नाम सभ बेचि-बेचि क' ,

स्वर्गहुमे हुनका अशान्त करू।

करैत रहू उनटा काज सभ अहिना ,

गगनचुंबी मूर्तिक निर्माण करू।।

नाकसॅ उपर पानि गेल छै ,

धक्का आब मारैटा पड़तै ।

प्रजातंत्रक चीरहरण कहियाधरि हेतै,

कौरवक अन्त होएबे टा करतै ।।

अपनहि घरक किछु दुर्योधन सभ ,

भारतके गुलाम बनाय रहल छथि।

आजादीक गुलामीक विरोधाभासमे,

'विष्णु 'नग्न सत्य उगलि रहल छथि।।

कुकुरके कारासॅ मतलब ,

नांगरि डोलाय कारा खयलक ।

दोसर ठाम देखितहि खाद्य वस्तु,

ओतुका बाट पुन:फेर धयलक ।।

 

अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।