प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

विदेह नूतन अंक
वि दे ह विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly ejournal विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू। Always refresh the pages for viewing new issue of VIDEHA.

राज किशोर मिश्र, रिटायर्ड चीफ जेनरल मैनेजर (ई), बी.एस.एन.एल.(मुख्यालय), दिल्ली,गाम- अरेर डीह, पो. अरेर हाट, मधुबनी

धो खा

वि श्वा स -दी प जरैत रहए,
देखब, कखनो ने मि झा इ,
अन्हर -बि हा रि सेहो अओतए,
मुदा टेमी , जरि ते जा इ ।

अछि ने ई सा मा न्य दी प,
ई बा ती छै वि श्वा स क'
वि श्वा स -इजो त फल छै एकर
बर्खक बर्ख प्रया सक।

भरो सा क' मुख -मंडल पर,
हो इत अछि नहि , छल -छद्मक' दा ग,
सदि खन ऊँच रहैत छै मूड़ी ,
सुशो भि त ओहि पर नि ष्ठा -पा ग।

अधि का र -पत्र ओ शपथ -पत्र
लए की करतै वि श्वा स?
ई अछि सुच्चा ओहि ना , जहि ना
अछि नि र्मल आका श।

मजबूत एहेन एकर बन्धन,
अटूट जतय वि श्वा स,
टूटि सकय नहि ई ता धरि ,
जा धरि , तन मे श्वा स

भरो सा के जे पा त्र नहि ,
सबतरि , पबैत अछि अपमा न,
कतबो दस्ता वेज दि आ देत,
वि श्वा स क' स्था न?

भा ङ्गल वि श्वा स धो खा अछि ,
शा र्गि द जकर छै, छल -प्रपंच,
भरो सा तो ड़ए के नेआर ,
षड्यंत्र करैत अछि ,सञ्च -मञ्च।

धो खा -क्षेत्र मे उगैत अछि ,
वि श्वा सघा त के शूल,
क्रूरता ओ कपट हो इत छै,
एहि केँ सभ सँ मूल।

हृदय छद्म -छल सँ भरल,
षड्यंत्र बनल, भुजदण्ड,
लो भ -का लि मा सँ पो तल,
कुटि ल -मुह, महा प्रचण्ड।

धो खा -मुख, मी ठ सँ भरल,
अछि ई परञ्च भुजंग,
अवसर पा बि कटबे करत,
देखा देत नि ज रंग।

धो खा के अछि जे नगरी , ओ
मि थ्या मा णि क्य सँ रहैछ सजल,
हो इत रहैत छै सदि खन ओत '
षड्यंत्रेक को नो चहल -पहल।

कनक -आसन सभ अछि बनल,
फुला एल, कुटि ल कपट -शतदल,
बनसी , मी न हेतु जेना पा थल,
भो जनो ओहि ना अछि परसल।

अति थि -सत्का र मे व्यस्त लो क,
कि ओ आर नहि , ओ सभ अछि शठ,
अवसर जखने भेट गेलै,
छो ड़ैत नहि अछि , धो खा के हठ।

छद्म भरल एहि नगरी मे,
वि श्वा स क'रक्त बहा ओल जा इछ,
मी ठगर -मी ठगर गी त गा बि , छल -
-वि जय -उत्सव मना ओल जा इछ।

मुदा , कलंक वि श्वा सघा त के,
सा टल अछि जकर कपा र,
के पति आओत ओकरा पुनि ,
के, करत पुनः ओकरा स्वी का र?


अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।