logo   

वि दे ह 

प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका

मानुषीमिह संस्कृताम्

ISSN 2229-547X VIDEHA

विदेह नूतन अंक  

 विदेह

मैथिली साहित्य आन्दोलन

Home ]

 

India Flag Nepal Flag

(c)२००४-२०२१.सर्वाधिकार लेखकाधीन आ जतए लेखकक नाम नहि अछि ततए संपादकाधीन।

 

वि  दे  ह विदेह Videha বিদেহ http://www.videha.co.in  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका Videha Ist Maithili Fortnightly e Magazine  विदेह प्रथम मैथिली पाक्षिक ई पत्रिका  नव अंक देखबाक लेल पृष्ठ सभकेँ रिफ्रेश कए देखू।

 

 

अमरेश कुमार चौधरी

२ टा बीहनि कथा

व्यथा

- कत गेलहुं

- आबैत छी

- सभटा समान ,राखि देलियै

- हं दस जोड़ी मौजा , पांचटा दस्ताना , दु दर्जन रूमाल बीसटा छोटकी गमछी बड़का झोड़ामे राखि देलहुं-

कने सबेरे एबै ने , बौआके जन्म दिन छै

- हमरा पता अछि।

- कहैत छल पप्पाके कहिए केक आनिद लेल.पड़ोसमे छसातटा दोस्तके भोरेभोरे कहि एलैया .कपड़ा लऽ लेबै

- हं हं। सभटा लऽ लेबै।

------- ---- --

- लेट भऽ गेल

-.हां

- एना मोन किया मसुआएल अछि .

- बौआ कतऽ गेल

- बाहरि बच्चा सभ संगे खेलैत अछि

- किछु पाई अहां लग अछि कि

- नहि , किछो नहि बिकल.

 

 

-- एक सप्ताहसं लोककतेहन आन्दोलन चलि रहल छै जे पुलिस चारियो घनटा निक सं बैसए नहि दैत छै .   ३०० टकाके बिकलै. के के २५० टकाके भेलै ५०टकाके जिलेबी लऽ लेलियै.

- पैरे एलिए एतेक दुरसं

- हां. तै देर भऽ गेलै.

- कपड़ा नै हेतै एहि बेर बौआके--

आंखि पोछति साड़ीसं बाजए लगली लोकके कि फरक पड़ैत छै- करैत रहौ आन्दोलन पाईबला सभ हमरे सभ लेल एहने दिन भगवान देने छथिन।

 

अबोध

- सुखेसर

- जी मालिक

-एम्हर आबह। बौआके अंगनामे मोनेने लगैत छै, कने दलान दिश लऽ जाह। दलानपर बच्चा सबके देखि मोन लगतै।

-हं मालिक

-कने रूकु। बड ठंड छै, स्वेटर पहिरा दैत छियै।----

-- जइयौ

-- सोगरथा ,रे सोगरथा

- कि बाबू

- ट्युसन गेल रही

- हं हौ

- एकरा सने खेलीहने।

-बडहावा उठि गेलै, पहिने अंगना जो मलकाइनसं एकर टोपी नेने आबिह

------------------------

- लऽ।

- कने हम पहिर कऽ देखियै

- मारबौ कि सार। दुटा बुसट पहिरने छी ने रे।

- हमरा तऽ ने टोपी दैत छह ने स्वेटर। खाली बड़के लोकके जार लागैत छै कि कहैत आंखि के नीच्चा कऽ लेलकै।

सम्पर्क-9623223156

अपन मंतव्य editorial.staff.videha@gmail.com पर पठाउ।